बच्चों को कुपोषण से बचाने के लिए कम से कम 06 माह तक मां को स्तन पान कराना चाहिए - डॉ जान्हवी


जौनपुर । वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय से संचालित महिला अध्ययन केंद्र द्वारा आयोजित कार्यक्रम  महिला चौपाल कन्हई पुर में लगाया गया जिसका विषय "कुपोषण से होने वाले रोग एवं लक्षण" था  आयोजित कार्यक्रम कुलाधिपति एवं राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल  के दिशा निर्देश एवं  कुलपति प्रो निर्मला एस मौर्य  की प्रेरणा से किया गया।जिसमें बतौर वक्ता डॉ जान्हवी श्रीवास्तव प्रभारी महिला अध्ययन केंद्र ने महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी को अपने भोजन में भरपूर प्रोटीन और विटामिन लेनी चाहिए ताकि आपका स्वास्थ्य अच्छा रह सके इसके लिए अपने खाने में हरी सब्जी ,मौसमी फल एवं दूध अवश्य शामिल करें आपके बच्चे कुपोषित ना हो ,इसके लिए कम से कम 6 महीने तक नवजात शिशुओं को सिर्फ मां का दूध पिलाएं और इसके बाद दलिया ,साबूदाना फल का जूस आदि को उनके भोजन में शामिल करें इसी क्रम में एस ओ .महिला थाना श्रीमती किरन मिश्रा ने महिलाओं को सुरक्षा से संबंधित जानकारी देते हुए जागरूक किया ,शासन द्वारा चलाए जाने वाली योजनाओं एवं हेल्पलाइन नंबर के बारे में भी विस्तार से बताया। बड़ी संख्या में महिलाओं ने चौपाल में प्रतिभाग किया और अपने द्वारा बनाए जाने वाली हस्तकला जैसे डलिया, डोर मैट,ब्लाउज एवं क्रोशिया तथा पेंटिंग भी बड़े उत्साह से दिखाया। उन महिलाओं को साथ में यह भी बताया  गया कि आने वाले समय में महिला अध्ययन केंद्र के तहत गांव की महिलाओं को रोजगार संबंधी प्रशिक्षण दिया जाएगा अतः आप सबकी प्रतिभागिता उसमें आवश्यक है ताकि गांव की प्रत्येक महिला आत्मनिर्भर बन सकें, कार्यक्रम के अंत में बब्बू गौड़ ने सभी  महिलाओं के प्रति आभार प्रकट किया ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मुम्बई से आकर बदलापुर थाने में बैठी प्रेमिका, पुलिस को प्रेमी से मिलाने की दी तहरीर, पुलिस पर सहयोग न करने का आरोप

आइए जानते है कहां पर बारिश के दौरान आकाश से गिरी मछलियां, ग्रामीण रहे भौचक

मनीष हत्याकांड का आरोपी 01लाख रुपए का इनामी, जौनपुर निवासी दरोगा विजय यादव हुआ गिरफ्तार, एसआईटी की पूंछताछ जारी