जौनपुर में जानें कहां बनने जा रहा है 45 करोड़ रुपए की लागत से अस्पताल बनाने की है तैयारी


जौनपुर। केंद्र व प्रदेश की सरकार चिकित्सकीय सुविधाओं पर विशेष ध्यान दे रही है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए उपचार में सुलभता के लिए जनपद जौनपुर में 45 करोड़ की लागत से सौ बेड का अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस अस्पताल बनाया जाना  है। इसके लिए पांच एकड़ जमीन अधिकृत कर ली गई है। इसके साथ ही 145 नए उपस्वास्थ्य केंद्र खोले जा रहे हैं।
मल्हनी विधानसभा उपचुनाव के समय जिले में आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनसभा में क्षेत्र में सौ बेड के अस्पताल की घोषणा की थी। अस्पताल में विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती के साथ ही जांच के लिए अत्याधुनिक उपकरण की व्यवस्था होगी। शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने अस्पताल के लिए सिकरारा के लखौंवा गांव के समीप पांच एकड़ जमीन अधिकृत कर रिपोर्ट सौंप दी गई थी। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस इस अस्पताल के निर्माण में 45 करोड़ रुपये लागत आएगी। स्वास्थ्य विभाग के जेई जियालाल सोनकर के अनुसार अस्पताल के लिए पांच एकड़ जमीन अधिकृत कर ली गई है। निर्माण के लिए राजकीय निर्माण निगम को अधिकृत किया गया है। धन अवमुक्त होते ही निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा। नियमित जांच व योग की व्यवस्था
जिले में 254 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं। इनमें 135 का निर्माण पूर्ण हो गया है। बाकी निर्माणाधीन हैं। इस सेंटर पर तैनात प्रशिक्षित कम्युनिटी हेल्थ आफिसर सभी प्रकार की जांच, स्वास्थ्य परीक्षण के साथ योगा भी सिखाएंगे। इतना ही नहीं ब्लड प्रेशर, शूगर आदि की दवाएं भी सेंटर पर उपलब्ध होंगी। यह प्रयास बीमारियों से बचाव के लिए मील का पत्थर साबित होगा। जिले में 150 कम्युनिटी हेल्थ आफिसर की तैनाती कर दी गई है, शेष केंद्रों के लिए चयन प्रक्रिया में है। तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तैयार
ग्रामीण अंचल में चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए मुख्यमंत्री ने तीन प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की घोषणा की थी। रामनगर विकास खंड के बर्राह, रामपुर के आशापुर और करंजाकला के समसपुर में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों का भवन तैयार हो गया है। चिकित्सकों व कर्मचारियों के आवास के लिए बजट की डिमांड की गई है।
सात करोड़ की लागत से बनेगा ड्रग वेयर हाउस
स्वास्थ्य विभाग के पास दवाओं व चिकित्सकीय उपकरण रखने के लिए स्टोर की सुविधा नहीं है। किराए का भवन लेकर किसी तरह काम चलाया जा रहा है। सरकार ने ड्रग वेयर हाउस के निर्माण की स्वीकृति प्रदान की है। जेई जियालाल सोनकर ने बताया कि सात करोड़ की लागत से ड्रग वेयर हाउस के लिए सीहीपुर के समीप चार बीघा जमीन चिन्हित की गई थी। प्रक्रिया पूर्ण होने से पूर्व ही जमीन को लेकर विवाद हो गया। अब दूसरे स्थान पर तलाश की जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम