टीडी पीजी कालेज की घटना के लिए असली जिम्मेदार कौन छात्र, शिक्षक अथवा कालेज प्रशासन?

 

जौनपुर। जनपद के सबसे बडे और पुराने टीडी पीजी कॉलेज लम्बे समय बाद एक बार फिर विद्यालय प्रशासन की लापरवाहियों के चलते  छात्र और शिक्षक के बीच जंग का अखाड़ा बनता नजर आ रहा है। इसका अन्त कैसे और कब होगा इसको लेकर कयास लगाये जा रहे है। हलांकि टीडी पीजी कॉलेज के अवकाश प्राप्त कुछ शिक्षक इसे दुर्भाग्यपूर्ण मानते हुए कहते है कि इस घटना के पीछे विद्यालय प्रशासन की लापरवाही है। जिसके कारण शिक्षक और छात्र आमने सामने है। गुरू और शिष्य की परम्परा की धज्जियां उड़ रही है।
यहां बता दें कि टीडी पीजी कालेज में शनिवार की देर शाम मुख्य गेट पर छात्रों के एक गुट ने जमकर हंगामा किया मामला छात्रा के साथ अध्यापक की बदसलूकी का बताया जा रहा था यहां पर सवाल यह खड़ा होता है कि इन छात्रो को किसके द्वारा प्रश्रय दिया गया। खबर है कि छात्र एमएससी एजी थर्डीयर के छात्र आन्दोलन कर रहे थे और इनके परीक्षा में प्रेटिकल बहुत ही महत्वपूर्ण होता है मेरिट के लिए प्रेटिकल का नम्बर कौन द सकता है जांच का बिषय है। हलांकि आन्दोलन का नेतृत्व करने वाला छात्र अभिषेक त्रिपाठी एमएससी एजी थर्डीयर का छात्र है ।
मिली खबर के अनुसार टीडी कॉलेज मिलीट्री साइंस के एक शिक्षक के परिवार की छात्रा को शिक्षक रजनीश सिंह ने आखिर डांट क्यों पिलायी कारण क्या था कि छात्रा रोने लगी और जब छात्रा का आंसू पोछने छात्र अर्पित सिंह गोलू गया तो शिक्षक उसके उपर क्यों भड़के यह सब जांच का बिषय है। यहां बता दे कि छात्रो के आन्दोलन के कारण पुलिस थाना लाइन बाजार ने भी अर्पित सिंह गोलू के खिलाफ मुकदमा भी पंजीकृत करते हुए विवेचना शुरू कर दिया है।मुकदमा दर्ज होने के पश्चात छात्र अर्पित सिंह और शिक्षक रजनीश सिंह के बीच रंजिश की खाई पड़ गयी है। जो भविष्य में कालेज के अन्दर खूनी जंग का स्वरूप ले सकती है ऐसा अवकाश प्राप्त शिक्षको का मानना है।
हलांकि इस घटना के लेकर कालेज के गेट पर लगभग ढाई घण्टे तक हाई  बोल्टेज ड्रामा चला और छात्रो की मांग पर कथित आरोपी अर्पित सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने और छात्रा को कालेज से निकले जाने के अश्वासन के बाद छात्रों ने धरना समाप्त किया।
मिली खबर के अनुसार टीडी कालेज की एक छात्रा कालेज परिसर में तब अचानक रोने लगी जब विद्यालय में किसी विषय की परीक्षा चल रही थी इसी बीच अर्पित सिंह गोलू नाम का एक युवक मौके पर पहुंचकर रो रही छात्रा से रोने का कारण पूछा तो छात्रा ने बताया कि शिक्षक डॉ रजनीश सिंह ने उसके साथ  बदसलूकी की है। इसी बात को लेकर गोलू और टीचर के बीच विवाद हो गया छात्रों की माने तो उसने अध्यापक की पिटाई कर दी ।
जब इस बात की जानकारी छात्रों को हुई तो सभी लामबंद होकर शिक्षक के पक्ष में कालेज के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठ गए । बताया जा रहा है कि करीब तीन बजे से शुरू हुए धरना प्रदर्शन की जानकारी जब  कालेज प्रशासन और थाना लाइन बाजार को हुई तो थाना प्रभारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचकर छात्रों को समझाया परन्तु छात्र आरोपी अर्पित सिंह उर्फ़ गोलू और पीड़ित छात्रा के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग करते रहे भारी गहमा गहमी के बीच देर शाम  करीब शाम सात बजे आरोपी युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज होने का जब पुलिस ने अस्वासन दिया तब छात्रों ने अपना हंगामा और धरना समाप्त किया। इस घटना के बाद एक बार फिर टीडी कॉलेज संवेदनशील हो गया है। इतिहास साक्षी है कि जब भी यह कालेज संवेदनशील हुआ अप्रिय घटना घटी है।इस बार विद्यालय प्रशासन कैसे शान्ति व्यवस्था कायम रखेगा यह एक गम्भीर सवाल उसके और सम्बन्धित थाना की पुलिस के समक्ष खड़ा हो गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है