सीएम के जनता दरबार में अर्जी: मुझे मेरे पीसीएस पत्नी से बचाइए साहब, मेरी हत्या कराना चाहती है


यूपी के बरेली जिले में तैनात सीनियर महिला पीसीएस अधिकारी पर उनके पति ने बेवफाई के आरोप लगाए हैं। पंचायत राज विभाग में चतुर्थ श्रेणी पद पर कार्यरत पति ने अपनी एसडीएम पत्नी और उसके प्रेमी से जान का भी खतरा बताया है। पीड़ित पति आलोक कुमार मौर्य ने धूमनगंज थाने में पत्नी और उसके प्रेमी के खिलाफ तहरीर दी है। 
हालांकि पुलिस ने पीड़ित की तहरीर पर जब मुकदमा दर्ज नहीं किया तो पीड़ित पति इस मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के जनता दरबार में पहुंच कर कार्रवाई की गुहार लगाया है। इसके साथ ही एसडीएम पत्नी और उसके होमगार्ड कमांडेंट प्रेमी के खिलाफ भी विभागीय स्तर पर कार्रवाई के लिए होमगार्ड मुख्यालय में शिकायत की है।
पीड़ित पति ने अपनी एसडीएम पत्नी पर रिश्वत लेने के भी गंभीर आरोप लगाए हैं। रिश्वत लेने के सबूत देते हुए कार्रवाई की भी मांग की है। पति ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी के बीच व्हाट्सएप चैट भी पुलिस को शिकायत के साथ दी है।
प्रयागराज के धूमनगंज थाना क्षेत्र के झलवा इलाके के रहने वाले आलोक कुमार मौर्य की शादी साल 2010 में वाराणसी के चिरईगांव की रहने वाली ज्योति मौर्या के साथ हुई थी। शादी के समय आलोक पंचायत राज विभाग में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के पद पर कार्यरत थे। इन दिनों उसकी तैनाती प्रतापगढ़ जिले में है। 
जबकि पत्नी ज्योति मौर्या ने उससे पढ़ने की इच्छा जताई। जिसके बाद आलोक अपनी पत्नी को लेकर प्रयागराज आ गया और यहां पर उसने सिविल की तैयारी के लिए कोचिंग कराई। 2016 में यूपी लोक सेवा आयोग की पीसीएस परीक्षा 2015 में ज्योति मौर्या का 16वें नंबर पर एसडीएम पद पर चयन हुआ। 
ज्योति मौर्या की तैनाती प्रयागराज जिले में भी रह चुकी है लेकिन मौजूदा समय में वह बरेली जिले में चीनी मिल में जीएम के पद पर कार्यरत हैं। हालांकि इसके पहले ज्योति मौर्या की तैनाती कौशांबी, प्रतापगढ़, जौनपुर और लखनऊ जिलों में भी रही है।
पीसीएस अधिकारी ज्योति मौर्या ने अपने पति आलोक मौर्य और ससुराल वालों के खिलाफ 7 मई 2023 को धूमनगंज थाने में दहेज उत्पीड़न का मुकदमा भी दर्ज करा दिया है। दहेज उत्पीड़न के मुकदमे में आरोप लगाया है कि ससुराल के लोग उनसे फॉरच्यूनर गाड़ी और पैसे की मांग कर रहे हैं। 
महिला अधिकारी के पति आलोक कुमार मौर्य का आरोप है कि उनकी पत्नी का अवैध संबंध गाजियाबाद में होमगार्ड कमांडेंट के पद पर तैनात मनीष दुबे से है। उसका कहना है कि फरवरी महीने में उनकी पत्नी के सरकारी आवास पर उन्होंने दोनों को आपत्तिजनक हालत में पकड़ लिया था। 
उसके बाद से ही उसकी पत्नी और उसका प्रेमी उसके जान के दुश्मन बने हुए हैं। पति का आरोप है कि पत्नी फोन पर उसे तलाक देने के लिए धमका रही है और जान से मारने की धमकी दे रही है। पीड़ित पति का कहना है कि उसका साला सचिन मौर्य भी हथियार लेकर उसकी जान का दुश्मन बना हुआ है।
पति का कहना है कि उसकी दो बच्चियां है और बच्चियों के भविष्य के लिए वह अपनी एसडीएम पत्नी को तलाक नहीं देना चाहता है। वह चाहता है कि वह सही रास्ते पर लौट आए। अपने उत्पीड़न की कहानी बताते हुए आलोक मौर्य की आंखें भर आती हैं। उसका आरोप है कि पत्नी के एसडीएम होने के चलते भी उसकी थाने से लेकर किसी स्तर पर सुनवाई नहीं हो रही है। फिलहाल पीड़ित पति आलोक कुमार मौर्य ने कहा है कि अगर इस मामले में उसके साथ कोई अनहोनी होती है तो इसकी जिम्मेदार उसकी पत्नी ज्योति मौर्या और उसका प्रेमी मनीष दुबे ही होंगे।

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल