पहली वर्षांत ने जिम्मेदारो और जिला प्रशासन के दावो की खोली पोल, सड़को पर कीचड़ ही कीचड़, फिर जाम का झाम

जौनपुर। भीषण गर्मी से परेशान हर व्यक्ति बारिश की आस लगाए बैठा था, मानसून आया तो झमाझम बारिश शुरू हो गई। तीन दिन से कभी सुबह से रात तक रूक-रूक कर बारिश हो रही है। खेती के लिए जहां बारिश फायदेमंद है, वहीं शहर में रहने वालो के लिए वर्षांत आफत बन गई है। लगातार हो रही वर्षा के चलते कहीं सड़क धंसने तो कहीं कीचड़ फैलने से सड़कों पर जाम लग जा रहा है। जिससे आवागमन में लोगों को परेशानी हो रही है।
खबर है कि जौनपुर शहर के लाइन बाजार चौराहे पर सड़क धंसने से वहां जाम की स्थिति बन गई। हालांकि चौड़ी सड़क होने से ज्यादा दिक्कत यहां नहीं हुई। वहीं ओलंदगंज में भारतीय स्टेट बैंक की कृषि शाखा के पास सड़क पर कीचड़ होने की वजह से जाम लग गया। इसका चलते शनिवार को दोपहर करीब ढाई बजे से लेकर साढ़े तीन बजे तक भीषण जाम लगा रहा। इस वजह से लोगों को रास्ता बदलकर आवागमन करना पड़ा। जिन लोगों को पॉलीटेक्निक चौराहा जाना था वह लोग ओलंदगंज से मछलीशहर पड़ाव होते हुए नईगंज निकले। वाजिदपुर तिराहा जाने के लिए गली की राह चुने।
शहर में जाम की समस्या इन दिनों आम हो गई है। यातायात पुलिस द्वारा बनाई गई तमाम योजना फेल साबित हो रही है। स्थिति यह है कि उर्दू बाजार में घनश्याम दास का अहाता के सामने, कोतवाली के पास, बड़ी मस्जिद के पास सड़क खाेदी गई है। कचहरी रोड पर सद्भावना मोड़ के पास, आंबेडकर तिराहे के पास खोदाई के कारण कीचड़ फैला हुआ है। इस वजह से आए दिन जाम लगता है। सड़क धंसने और जाम का प्रमुख कारण सीवर लाइन डालने के लिए खोदी गई सड़कें हैं। यातायात प्रभारी निरीक्षक जीडी शुक्ला ने कहा कि जब तक सड़क नहीं बनेगी तब तक जाम की समस्या से पूरी तरह निजात नहीं मिल सकती। क्योंकि एक तरफ जाम हटवाया जाता है, तब तक दूसरी तरफ गड्ढे के कारण जाम लग जाता है।
इसके साथ ही वर्षांत होने के साथ ही पूरे शहर की सड़को पर कीचड़ नजर आ रहा है जिसका बुरा खामियाजा सड़क पर निकलने वाले राहगीरो सहित दुकानदारो को भुगतना पड़ रहा है। पालिटेक्निक के पास मड़ियाहूं पड़ाव,ओलंदगंज स्थित सद्भावना पुल के तिराहे के पास, लाइन बाजार, कचहरी,शाही किला मार्ग, इस तरह यदि कहा जाये कि पूरा जनपद कीचड़ में समाया हुआ है तो अतिशयोक्ति नहीं होगी। जिला प्रशासन ने जेसीज से ओलंदगंज तक की सड़क के चौड़ी करण के लिए तोड़फोड़ किया और दावा किया कि वर्षांत के पहले बनकर तैयार हो जायेगी लेकिन वर्तमान में कीचड़ युक्त होकर राहगीरो के लिए संकट पैदा कर रही है।यहां बता दें कि ग्रीष्म काल में जिला प्रशासन से लेकर अन्य जिम्मेदार लोग लगातार दावे करते नजर आये कि वर्षांत से पहले शहर की सभी सड़के दुरुस्त हो जायेगी। लेकिन जब वर्षांत हुई तो सभी के दावो की पोल खुल गयी। 

Comments

Popular posts from this blog

भीषण दुर्घटना एक परिवार के आठ सदस्यो की दर्दनाक मौत, पुलिस ने किया विधिक कार्यवाई, इलाके में कोहराम

जौनपुरिया दूल्हा स्टेज पर पिया गांजा तो दुल्हन ने किया शादी से इन्कार,पुलिसिया हस्तक्षेप के बाद बगैर दुल्हन के लौटे बाराती

एक लाख रुपए घूस लेते हुए लेखपाल चढ़ा एन्टी करप्शन टीम के हाथ पहुंच गया सलाखों के पीछे जेल