फर्जी एसडीएम शाहगंज बन कर फोन करने वाले का जानें कैसे हुआ खुलासा, युवक गिरफ्तार


फर्जी वाड़े का खेल अब केवल कागजो तक सीमित नहीं रह गया है, फर्जी अधिकारी बन कर अब रोब गांठने का भी नया खेल साभने आने लगा है। बीते दिवस एक व्यक्ति फर्जी शाहगंज एसडीएम बन कर थाना रानी गंज को फोन मिलाया और जानते है क्या कहा है ।
मैं शाहगंज एसडीएम बोल रहां हूं, फैसल नाम के युवक को क्यों बैठा रखे हो। उसे जल्द छोड़ दो। अन्यथा ठीक नहीं होगा। जब मन चाहे तब किसी न किसी को थाने लाकर बैठा लेते हो। शुक्रवार की रात एक व्यक्ति ने फर्जी एसडीएम बनकर पुलिस को धमकाया। छानबीन के बाद पुलिस उसे घर से उठा लाई। 
रानीगंज थाना क्षेत्र के पूरेगोलिया निवासी फैसल को संदेह के आधार पर पुलिस शुक्रवार को पूछताछ के लिए थाने ले गई थी। देर रात सीओ रानीगंज अतुल अंजान त्रिपाठी और रानीगंज थानाध्यक्ष मातहतों के साथ बैठक कर रहे थे। तभी रानीगंज थानाध्यक्ष के सीयूजी नंबर पर फोन आया। फोन करने वाले ने खुद को एसडीएम शाहगंज बताया। उसने कहा कि फैसल को क्यों बैठा रखे हो। उसे जल्दी छोड़ दो। कभी भी किसी को उठा लाते हो। हर व्यक्ति अपराधी नहीं होता। थानाध्यक्ष कुछ बताने की कोशिश करते तभी वह धमकाने वाले अंदाज में बात करने लगा।
यह सुनने के बाद थानाध्यक्ष ने फोन सीओ रानीगंज को थमा दिया। दोनों के बीच बातचीत होने लगी। फोन करने वाले से सीओ की बहस होने लगी। रानीगंज तहसील का कोड पूछने पर कथित एसडीएम भड़क उठा और फोन काट दिया। सीओ रानीगंज अतुल अंजान त्रिपाठी शाहगंज एसडीएम के बैचमेट हैं। फोन कटते ही उन्होंने शाहगंज एसडीएम को फोन मिला दिया।
उन्होंने फोन करने से इनकार कर दिया। इसके बाद पुलिस उस नंबर को ट्रेस करने लगी। कुछ देर बाद फर्जीँ एसडीएम को पुलिस ने खोज निकाला। उसे भोर में ही पुलिस घर से उठा लाई। सीओ रानीगंज अतुल अंजान त्रिपाठी ने बताया कि फर्जी एसडीएम बनकर फोन करने वाला युवक संभ्रांत परिवार से है। उसने अपनी गलती स्वीकार कर ली है। छानबीन की जा रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रातः काल तड़तड़ाई गोलियां, बदमाशों ने अखिलेश यादव की कर दिया हत्या,ग्रामीण जनों में घटना को लेकर गुस्सा

सीएम योगी का चुनावी वादा बिजली बिल बकाये को लेकर दिया यह आदेश

आज से लगातार 08 दिनों तक बैंक रहेंगे बन्द जानें इस माह में कितने दिवस होगे काम काज