एक लाख रुपए का ईनामी ,नीट सॉल्वर गैंग का मास्टर माइन्ड गिरफ्तार पहुंचा जेल



नीट सॉल्वर गैंग का मास्टरमाइंड एक लाख इनामी नीलेश कुमार उर्फ पीके और उसके बहनोई रितेश उर्फ सोनू को कमिश्नरेट पुलिस ने गुरुवार शाम सारनाथ स्थित रिंग रोड फ्लाईओवर के पास से गिरफ्तार कर लिया। बहनोई रितेश पटना सचिवालय में वरिष्ठ लिपिक है। पुलिस के अनुसार, पीके की डॉक्टर बहन भी गैंग में शामिल है।  
पुलिस आयुक्त ए सतीश गणेश ने बताया कि नीलेश उर्फ पीके टेलीफोन एक्सचेंज रोड पाटलिपुत्र पटना बिहार में रहता है, हालांकि मूल रूप से वह छपरा (बिहार) के एकमा थाना क्षेत्र के सिंदुआर का निवासी है। पिता कमलवंश नारायण सिंह उद्योग विभाग से 1990 में रिटायर होने के बाद सपरिवार पटना में बस गया। 
नीलेश उर्फ पीके ने दुरस्थ शिक्षा (डिस्टेंस एजुकेशन) के जरिए स्नातक की परीक्षा पटना विश्वविद्यालय से पास की है लेकिन आसपास व सभी लोगों को खुद को डॉक्टर बताता है और घर से डॉक्टर के वेश में ही निकलता है, जिससे कि लोग इस पर विश्वास कर सके कि यह पेसे से डॉक्टर है।
पुलिस आयुक्त ने बताया कि तफ्तीश में मालूम चला कि यह और इसका गैंग लगभग पांच से छह सालों से नीट की परीक्षा में सॉल्वरों को बैठाकर परीक्षा दिला रहे हैं। नीट की परीक्षा के साथ-साथ उत्तर प्रदेश एवं बिहार राज्य के शिक्षक परीक्षा व उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के साथ-साथ बिहार पुलिस व अन्य सेवाओं में यह अपने बहनोई रितेश उर्फ सोनू जो कि बिहार सचिवालय में कार्यरत है, उसके साथ मिलकर इन सभी परीक्षाओं में पेपर आउट करा कर या सॉल्वर की व्यवस्था करा कर परीक्षा में पास कराता है।
नीट की परीक्षा में यह 30 से 49 लाख रुपये प्रति अभ्यर्थी वसूलते हैं। इन्होंने इन्हीं पैसे से पटना में तीन मंजिला मकान व दानापुर में दो जगह 4 से 5 बिस्वा की जमीन को खरीद रखा है। इसके पास तीन गाड़ियां जिसमें एक फॉर्च्यूनर, हुंडई लिवो और एक वैगनआर है।
पुलिस आयुक्त ने बताया कि रितेश कुमार सिंह देव नगर न्यू जगन पूरा पिपरा रोड पोल नंबर 28 गवर्नमेंट स्कूल के पहले, जिला पटना बिहार का रहने वाला है, पटना सचिवालय में कला संस्कृति व युवा विभाग में उच्च वर्गीय लिपिक के पद पर वर्ष 2004 में नियुक्त हुआ। रितेश कुमार रिश्ते में नीलेश उर्फ पीके का बहनोई है। इसका विवाह नीलेश की बहन डॉक्टर प्रिया से वर्ष 2014 में हुआ। डॉक्टर प्रिया ने वर्ष 2019 में आईजीआईजीआईएमएस पटना से 2019 में एमबीबीएस पूर्ण किया है और वर्तमान में नगरा ब्लॉक, सारन छपरा में पीएचसी में संविदा पर नियुक्त है वह भी इनके इस गैंग में सम्मिलित है।

 

 

 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर