यह विभाग जूझ रहा है कर्मचारियों की कमी से, पांच हजार पद रिक्त क्यों,कब होगी भर्ती?


कुपोषण दूर करने वाला उत्तर प्रदेश सरकार का विभाग कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है। विभाग में लगभग पांच हजार पद खाली हैं। बाल विकास व पुष्टाहार राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) स्वाति सिंह ने सभी पदों को भरने की कार्रवाई शुरू करने के निर्देश दिए हैं। विभाग 18 मण्डलों में उपनिदेशक की तैनाती भी करेगा। विभाग में मुख्य सेविकाओं के 3737, कनिष्ठ सहायकों के 538, सहायक सांख्यिकी अधिकारी के 222 और सीडीपीओ के 434 पद खाली हैं। इनमें कुछ सीधी भर्ती तो कुछ प्रोन्नति से भरे जाने हैं। बीते दिनों हुई समीक्षा बैठक में मंत्री स्वाति सिंह ने रिक्त पदों का ब्योरा लिया तो पता चला कि अधिकारी सुनवाई नहीं करते।

उन्होंने इन पदों को भरे जानें के लिए टाइमलाइन तलब की थी लेकिन विभाग ने नहीं दी। अभी तक केवल 106 सीडीपीओ के पद सीधी भर्ती से भरे गए हैं। मुख्य सेविकाओं के 50 फीसदी पद प्रोन्नति और 50 फीसदी सीधी भर्ती से भरे जाते हैं। मुख्य सेविका के 375 पद ही प्रोन्नति के हैं बाकी पद सीधी भर्ती के हैं।

दो साल से लंबित
आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से मुख्य सेविका के पद पर प्रोन्नति की व्यवस्था में संशोधन करते हुए परफार्मेंस का मापदण्ड भी रखे जाने के लिए दो वर्ष पहले राज्यमंत्री ने प्रस्ताव मांगा था लेकिन अभी तक प्रस्ताव नहीं मिला है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

टीईटी साल्वर गिरोह का हुआ भन्डाफोड़, दो गिरफ्तार,एक जौनपुर दूसरा सोनभद्र का निकला

जौनपुर में तैनात दुष्कर्म के आरोपी पुलिस इन्सपेक्टर की सेवा हुई समाप्त, जानें क्या है घटना क्रम

प्रेम प्रपंच में युवकों की जमकर पिटाई, प्रेमी की इलाज के दौरान मौत तो दूसरा साथी गंभीर