विश्व के शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में पीयू के तीन शिक्षक शामिल कुलपति ने दी बधाई


जौनपुर। वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के तीन शिक्षकों ने विश्वस्तरीय  शीर्ष वैज्ञानिकों की सूची में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। इन वैज्ञानिकों की अन्तरराष्ट्रीय उपलब्धि से वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय का सम्मान बढ़ा है।
स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी यूएसए और एलसेवियर बी वी द्वारा जारी विश्व के शीर्ष दो प्रतिशत वैज्ञानिको की सूची में वीर बहादुर सिंह पूर्वांचल विश्वविद्यालय के तीन शिक्षकों जिसमें विज्ञान संकाय की पूर्व संकायाध्यक्ष, बायोटेक्नोलॉजी विभाग की पूर्व विभागाध्यक्ष और शिक्षक श्री पुरस्कार से सम्मानित प्रो. वंदना राय, बायोटेक्नोलॉजी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. प्रदीप कुमार और केमिस्ट्री विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. मिथिलेश यादव ने जगह बनाई है। अक्टूबर 2021 को प्रकाशित स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी, यूएसए और एलसेवियर बी वी और प्लॉस बायोलॉजी के सहयोग से विशेषज्ञों द्वारा बनाये गए " मानकीकृत उद्धरण संकेतकों के अध्यतन विज्ञान- व्यापी लेखक डेटाबेस" में विश्व के 2 प्रतिशत वैज्ञानिकों की सूची बनाई गयी है। यह चयन सी स्कोर(स्व- उद्धरण के साथ और बिना) या दो प्रतिशत या उससे अधिक के प्रतिशत रैंक द्वारा 100000 पर आधारित है। 
प्रो. वंदना राय व डॉ. प्रदीप कुमार पिछले दो दशक से भी अधिक समय से  बायोटेक्नोलॉजी में  मानव आण्विक आनुवंशिकी में मुख्य रूप से महिलाओं और ग्रामीण क्षेत्र की जनता के स्वास्थ्य संबंधी विषयों व विशेषकर फोलिक एसिड से संबंधित जींस पर कार्य कर रहे है। डॉ. मिथिलेश यादव एक दशक से भी अधिक समय से पोलिमर केमिस्ट्री के क्षेत्र में कार्य कर रहे है। तीनों शिक्षकों की इस उपलब्धि ने विश्वविद्यालय की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर सम्मान बढ़ाया है। 
विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. निर्मला एस. मौर्य ने कहा कि यह उपलब्धि पूर्वांचल विश्वविद्यालय के परिवार के लिए सम्मान और प्रतिष्ठा की बात है। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के शिक्षकों, अधिकारियों कर्मचारियों व छात्र छात्राओं ने तीनों शिक्षकों को बधाई दी हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

ड्रेस के लिए बच्चे को पीटने वाला प्रिन्सिपल अब पहुंचा सलाखों के पीछे

14 और 15 दिसम्बर 21को जौनपुर रहेंगे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव,जानें क्या है कार्यक्रम

ओमिक्रॉन से बढ़ी दहशत,पूर्वांचल के जनपदो में भी मिलने लगे संक्रमित मरीज,प्रशासनिक तैयारी तेजम