सरकारी और गैर सरकारी स्तर पर एकता दिवस के रूप में मनायी गयी सरदार पटेल की 147 वीं जयन्ती

जौनपुर। भारत रत्न सरदार बल्लभ भाई पटेल की147 वीं जयन्ती के अवसर पर जनपद में सरकारी गैर सरकारी संस्थानो सहित राजनैतिक दलो द्वारा विविध कार्यक्रम के जरिए सरदार पटेल की जयन्ती मनायी गयी। इस क्रम में जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ,सीडीओ, एडीएम वित्त, सीआरओ आदि अधिकारियों ने पटेल जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हे श्रद्धान्जलि अर्पित किया साथ ही जिलाधिकारी ने सभी को एकता दिवस की शपथ दिलाया।
जिलाधिकारी ने सरदार बल्लभभाई पटेल के जन्म दिवस को ‘‘राष्ट्रीय एकता दिवस’’ के रूप में मनाए जाने के अवसर पर उपस्थित अधिकारियों, कर्मचारियों एवं अन्य सम्भ्रान्त नागरिकों को शपथ दिलाते हुए कहा ‘‘मैं सत्य निष्ठा से शपथ लेता हूं कि मैं राष्ट्र की एकता, अखंडता और सुरक्षा को बनाए रखने के लिए स्वंय को समर्पित करुंगा और अपने देशवासियों के बीच यह संदेश फैलाने का भी भरसक प्रयत्न करूंगा। मैं यह शपथ अपने देश की एकता की भावना से ले रहा हूं, जिसे सरदार वल्लभ भाई पटेल की दूरदर्शिता एवं कार्यों द्वारा संभव बनाया जा सका है। मैं अपने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने की भी सत्य निष्ठा से संकल्प लेता हूॅं’’।इस मौके पर अपर जिलाधिकारी (वि/रा) रामप्रकाश, अपर जिलाधिकारी भू-राजस्व रजनीश राय ने भी भारतरत्न, लौहपुरूष सरदार बल्लभभाई पटेल जी के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्प अर्पित किया।  
पूर्वांचल विश्वविद्यालय में सरदार वल्लभ भाई  पटेल की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा "रन फॉर यूनिटी" का आयोजन हुआ। इसमें विश्वविद्यालय के अधिकारी, शिक्षक, कर्मचारी, छात्र-छात्राएं, एनएसएस  एवं रोवर्स/रेंजर्स के स्वयंसेवकों ने भाग लिया. कुलपति प्रो निर्मला एस मौर्य की प्रेरणा से कुलसचिव महेंद्र कुमार एवं वित्त अधिकारी संजय कुमार राय ने हरी झंडी दिखाकर दौड़ का शुभारम्भ किया. इस अवसर पर जनसंचार विभाग के अध्यक्ष डॉ. मनोज मिश्र ने सभी को  राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलवाई। सरस्वती सदन में स्थापित सरदार  पटेल की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया. "रन फॉर यूनिटी" विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार से एकलव्य स्टेडियम होते हुए वापस मुख्य द्वार पहुंची।
इस अवसर पर परीक्षा नियंत्रक बी एन सिंह,एआर अजीत सिंह, प्रो. मानस पाण्डेय, प्रो. अजय द्विवेदी, प्रो. संदीप सिंह,  प्रो. वी. डी. शर्मा, प्रो अशोक कुमार श्रीवास्तव, प्रो. रजनीश भास्कर, प्रो. राजेश शर्मा, प्रो. सुरजीत यादव, डॉ राजकुमार, रोवर्स/रेंजर्स प्रभारी डॉ. जगदेव, डॉ. रसिकेश, डॉ आशुतोष सिंह, डॉ. सुनील कुमार, डॉ. अवध बिहारी सिंह, डॉ. लक्ष्मी प्रसाद मौर्य,  डॉ. जाह्नवी श्रीवास्तव, डॉ. अमित वत्स, डा.प्रमोद कुमार, डा. गिरधर मिश्र,  डॉ पुनीत धवन, डॉ विनय वर्मा, श्याम त्रिपाठी, राजेश सिंह, श्रीनाथ यादव समेत तमाम शिक्षक और कर्मचारी उपस्थित रहे।
पुलिस विभाग के अधिकारियों ने इस अवसर पर पुलिस लाइन में राष्ट्रीय एकता दिवस पर रन फार युनिटी का आयोजन किया गया।जिसे हरी झन्डी अपर पुलिस अधीक्षक नगर डॉ संजय कुमार ने दिखाया।इस अवसर पर पुलिस जनो को राष्ट्रीय एकता अखण्डता और सुरक्षा बनाये रखने की शपथ दिलाया गया।
समाजवादी पार्टी कार्यालय पर लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के जंयती के अवसर पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर मनाया गया सपा जिलाध्यक्ष लालबहादुर यादव ने उनके जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि भारत के लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर 1875 को नादिद ग्राम में हुआ था उनके पिता झवेरभाई पटेल एक साधारण किसान माता लाडबाई एक साधारण महिला थी बचपन से ही पटेल कड़ी मेहनत करते आए थें पटेल अपने पिता की सहायता करते थे।
जंयती समारोह में मुख्य रूप से विधायक रागिनी सोनकर, श्याम बहादुर पाल, राहुल त्रिपाठी, रमापति यादव, श्याम नरायन बिन्द, राजकुमार बिन्द,गप्पू मौर्य,आंनद मिश्रा, दीपक जायसवाल अनवारुल हक गुड्डू आरीफ हबीब,कमालुद्दीन अंसारी गुड्डू सोनकर भानुप्रताप मौर्य विनोद मास्टर अलमाश सभासद शेखू खाँ, महावीर यादव कौशल यादव,डां शबनम नाज,रमाशंकर यादव आदि संचालन जिला महासचिव हिसामुद्दीन शाह ने किया।
तिलकधारी स्नातकोत्तर महाविद्यालय, जौनपुर  में सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाई गई, कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय के उप प्राचार्य डॉ.विनय कुमार सिंह ने की, मुख्य अतिथि के रूप में अंग्रेजी विभाग की विभागाध्यक्ष प्रोफेसर वंदना दुबे रही, मुख्य वक्ता प्रोफेसर अजय दुबे रहे, विशिष्ट वक्ता के रूप में समाजशास्त्र विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. हरिओम त्रिपाठी रहे, कार्यक्रम का संयोजन मनोविज्ञान की एसो. प्रोफेसर डॉ.माया सिंह ने किया, कार्यक्रम में डॉ.वेद प्रकाश सिंह ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन बहुत ही सरल और सहज था जो वर्तमान समाज में प्रेरणा स्त्रोत है, राष्ट्रीय सेवा योजना के बरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी डॉ. मनोज सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय एकता अखंडता को बनाए रखने में सरदार पटेल जी का जीवन बहुत ही अविस्मरणीय है, कार्यक्रम में बोलते हुए कार्यक्रम की मुख्य अतिथि वंदना दुबे ने ने कहा कि लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल जी का व्यक्तित्व बहुत ही विराट एवं विशाल था,उनकी दूरदर्शिता आज के समाज मे राष्ट्रवाद के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दे रही हैं सरदार बल्लभ भाई पटेल पूर्ण स्वराज  का लक्ष्य करके कार्य किया, कार्यक्रम के मुख्य वक्ता B.Ed विभाग के प्रोफेसर डॉ. अजय दुबे ने सरदार वल्लभ भाई पटेल के जीवन से जुड़े प्रसंगों को छात्रों के वर्तमान जीवन से जोड़ते हुए उन्हें कर्तव्य निष्ठा से अध्ययन कार्य करने के लिए प्रेरित किया, कार्यक्रम के विशिष्ट वक्ता   समाजशास्त्र के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.हरिओम त्रिपाठी ने कहा कि एकता दिवस 2014 मे केंद्र सरकार द्वारा तय किया गया ,जो एक महत्वपूर्ण तिथि है, जिसके द्वारा हम अपने देश के महान शिल्पकार सरदार वल्लभभाई पटेल को याद कर रहे हैं। सरदार वल्लभ भाई पटेल का व्यक्तित्व बहुत ही सरल और सहज था। सुख दुख में समान रहने वाले व्यक्ति थे। खेड़ा संघर्ष हो या स्वतंत्रता आंदोलन हो या किसान आंदोलन  किसी भी आंदोलन में वह अपने धैर्य के साथ अपने नेतृत्व को आगे बढ़ाया । डॉ.हरिओम त्रिपाठी ने कहा कि सरदार पटेल गांधीजी के अहिंसा वादी विचारधारा से प्रभावित थे, इसलिए उन्होंने स्वतंत्रा आंदोलन, असहयोग आंदोलन, स्वराज आंदोलन, दांडी यात्रा, भारत छोड़ो आंदोलन जैसे सभी आंदोलनों में सरदार पटेल की भूमिका अहम रही। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे महाविद्यालय के उप प्राचार्य डॉ. विनय कुमार सिंह ने कराची अधिवेशन में सरदार पटेल की भूमिका मूलभूत राजनीतिक अधिकारों से जुड़े स्मृतियो पर विस्तृत रूप से चर्चा की।
कार्यक्रम का संचालन हिंदी विभाग की विभागाध्यक्ष प्रोफेसर सुषमा सिंह ने बड़े ही कुशल नेतृत्व के रूप में किया। कार्यक्रम में डॉक्टर गीता सिंह, डॉ जे पी सिंह  डॉक्टर सुदेश सिंह डॉक्टर नरेंद्र देव पाठक डॉ. लालचंद यादव ,चंद्र प्रकाश गिरी, आशुतोष उपाध्याय एवं छात्र छात्राएं उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है