जानिए नये थाने से क्यों नहीं जुड़ना चाहते है ग्रामीण,सीएम से लेकर डीएम तक को पत्र


जौनपुर। शासन के निर्देश पर बनाये गये नये थाना तेजी बाजार में मछलीशहर थानाक्षेत्र के 21 गांवों को अलग करके बनाया गया है। अब उन गांवों के लोग नये थाने से जुड़ने का विरोध कर रहे है। दोबारा मछलीशहर में शामिल करने की मांग कर रहे है। इसके लिए लोगों ने मुख्यमंत्री पत्र लिखा है। साथ ही रविवार को राज्यसभा सदस्य सीमा द्विवेदी व जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा को इसका पत्रक सौंपा।
बरईपार, धर्मुपुर, कटका, किशुनीपुर चकघसीटा, कैथौली, ठेहुंनिया, सकरा, रामपुर सकरा, कपूरपुर, विश्वपालपुर कान्हापुर, भाऊपुर, आयर, चकनवाबाद, बंगालीपुर, अचकचा जीरीकपुर, राजेपुर, धनौवा, चोरहां गांवों को मछलीशहर थाने से हटाकर तेजी बाजार में नया थाना बनाया गया। इसका अब विरोध शुरू हो गया है।
मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर लोगों ने अपने गांवों को मछलीशहर थाने में फिर से शामिल करने की मांग की है। ग्रामीणों का कहना है कि बदलापुर व मछलीशहर थाने के बीच सई नदी की सीमा रेखा है। नदी के दक्षिण तरफ के गांव मछलीशहर तहसील से जुड़े हैं। मछलीशहर थाने की सीमा भी नदी को माना जाए। तेजी बाजार थाने से इन गांवों की दूरी भी ज्यादा है। खपरहा प्रधान बीनू यादव, राजपति यादव, अखिलेश गुप्ता, वंदना यादव, नन्हेलाल पटेल, कमलेश मौर्य, आयर संतोष कुमार मिश्रा, ठेहुंनिया के अनिल यादव, अनिल पांडेय ने सांसद और डीएम से मिलकर अपनी समस्या बताई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुलिस मुठभेड़ में मारे गए बदमाशो का शव उनके पिता ने लेने से किया इनकार जानें कारण

गुरूजी को अपनी छात्रा से लगा प्रेम रोग तो अब पहुंच गए सलाखों के पीछे,थाने में हुआ एफआइआर दर्ज

पुलिस मुठभेड़ में दो सगे भाई बदमाश मारे गये एक फरार जिसकी तलाश जारी है