बिजली विभाग निजीकरण के विरोध में कर्मचारियों का धरना-प्रदर्शन तीसरे दिन भी जारी,कभी भी कट सकती है विद्युत


जौनपुर।  निजीकरण के विरोध में  सहित अन्य विभिन्न मांगों को लेकर विद्युत कर्मियों ने कार्य बहिष्कार का तीसरा दिन जारी है। अधीक्षण अभियंता कार्यालय पर कर्मचारियों ने धरना दिया। पूरे दिन प्रदर्शन के बाद चेतावनी दी कि यदि मांग पूरी नहीं हुई तो आगे भी बड़ा आंदोलन किया जाएगा। 
इस मुद्दे पर कर्मचारी नेता निखिलेश सिंह से वार्ता करने पर उन्होंने बताया कि लखनऊ में बैठे विभाग के शीर्ष अधिकारी लगातार कर्मचारी विरोधी काम कर रहे है।विभाग का निजीकरण करने के साथ ही तमाम कर्मचारी विरोधी काम कर रहे है। उन्होंने कहा कि बिजली विभाग के कर्मचारीयों को आन्दोलन की राह पर जाने से कई स्थानो पर विद्युत सप्लाई का संकट चल रहा है सरकार ने जल्द हमारी सभी मांगो को नहीं माना तो दो तीन दिन के बाद आन्दोलन की गति तेज करते हुए बिजली का संकट पैदा करने का काम संभावित है।
यहां बता दे कि संयुक्त संघर्ष समिति लखनऊ के आह्वान जिला संयोजक निखिलेश सिंह के नेतृत्व में बिजली विभाग के कर्मियों ने काम करना बन्द कर दिया है और अधीक्षण अभियंता कार्यालय के समक्ष धरना दिया। धरना सभा में वक्ताओं ने कहा कि प्रबंधन कर्मचारियों की मांगों को पूरा नहीं करता है तथा किसी भी अधिकारी, कर्मचारी व संविदाकर्मी का उत्पीड़न किया जाता है तो कर्मचारी अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाएंगे। 
धरना सभा का संचालन निखिलेश सिंह ने किया इस कार्य बहिष्कार में उपस्थिति में मनीष कुमार श्रीवास्तव, अभिषेक केशरवानी, पंकज जायसवाल, निर्भीक भारती, संजय यादव, प्रमोद मौर्य आदि ने संबोधित किया। 
इस दौरान एके सिंह, उपखंड  अधिकारी धर्मेंद्र कुमार गुप्ता सौरभ मिश्रा, राम नरेश, रविंद्र पासवान, व ईoआतिश कुमार  यादव, मनीष कुमार आदि बड़ी संख्या में विभाग के कर्मचारीगण शामिल रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

मेदांता में इलाज करा रहे इस आईएएस अधिकारी का हुआ निधन

जौनपुर में फिर तड़तड़ायी गोलियां एक युवक गम्भीर रूप से घायल बदमाश फरार, पुलिस अंधेरे में चला रही छानबीन की तीर

थाना चन्दवक की वसूली लिस्ट वायरल होने पर एक बार फिर सुर्खियों में पुलिस जांच शुरू