वारण्टी अभियुक्त पुलिस को चकमा देकर हुआ फरार, मुकदमा दर्ज, सिपाही निलम्बित



जौनपुर। थाना तेजी बाजार से गिरफ्तार अभियुक्त को न्यायालय ले जाते समय मेडिकल कराने के दौरान पुलिस को चकमा देकर फरार हुए अभियुक्त के मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक डॉ अजय पाल शर्मा ने सम्बन्धित पुलिस कर्मी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।और फरार अभियुक्त के खिलाफ थाना बक्शा में मुकदमा दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दिया गया है।
इस सम्बन्ध में सीओ सदर एसपी उपाध्याय ने जारी अपने बयान में जानकारी दिया है कि अभियुक्त नोखई बिन्द के खिलाफ जीएम प्रथम के न्यायालय से मुकदमा धारा 323, 325, 504, 506 भादवि के तहत एनवीडब्लू जारी हुआ था। न्यायालय के वारण्ट तामिला के तहत थाना तेजी बाजार के दरोगा उमाशंकर ने 24 नवम्बर 23 को दविश देकर अभियुक्त को गिरफ्तार कर वारण्ट के तहत कॉन्स्टेबल पवन पान्डेय और पीआरडी राकेश के साथ न्यायालय इस हिदायत के साथ भेजा गया कि मेडिकल कराते हुए न्यायालय ले जाये।
आदेश के क्रम में कॉन्स्टेबल और पीआरडी कर्मी अभियुक्त नोखई बिन्द को लेकर पीएचसी नौपेड़वा गये वहां पर मेडिकल कराने की प्रक्रिया करा रहे थे। तभी पेशाब का बहना बता कर 65 वर्षीय अभियुक्त नोखई बिन्द पुलिस के पास से निकला और फरार हो गया।काफी खोजबीन के बाद नहीं मिला तो फरार अभियुक्त के खिलाफ थाना बक्शा में मुअंस 323/23 से एफआईआर दर्ज कर लिया गया और उसकी तलाश शुरू कर दी गई है।
इसके बाद पुलिस अधीक्षक डॉ अजय पाल शर्मा ने मामले को गम्भीर लापरवाही मानते हुए कॉन्स्टेबल पवन पान्डेय को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया और पीआरडी कर्मी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए पीआरडी विभाग को पत्र भेजवाया है।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस प्रशासन और दीवानी न्यायालय के न्यायिक अधिकारियों के बीच छिड़ी जंग, न्यायाधीश हुए सुरक्षा विहीन

एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ा चपरासी ढाई लाख रुपए घूस ले रहा था चपरासी सहित एसीओ के खिलाफ मुकदमा दर्ज

मछलीशहर (सु) संसदीय क्षेत्र से सांसद बनने के लिए दावेदारो की जाने क्या है स्थित, कौन होगा पार्टी के लिए फायदेमंद