सांसद श्याम सिंह यादव ने लोक सभा में राष्ट्रीय राइफल संघ के चुनाव में धांधली बाजी का आरोप लगाते हुए कार्यवाई की किया मांग



जौनपुर। जौनपुर संसदीय क्षेत्र के सांसद श्याम सिंह यादव ने लोक सभा में राष्ट्रीय राइफल संघ के चुनाव में भारी धांधली बाजी का मुद्दा उठाते हुए आवाज बुलंद किया और धांधली बाजो के विरूद्ध विधिक कार्यवाई की मांग किया है।

सदन में लोक सभा अध्यक्ष को सम्बोधित करते हुए सांसद श्याम सिंह यादव ने बताया कि पिछले साल राष्ट्रीय राइफल संघ के चुनाव में हो रही घांधली बाजी के खिलाफ पत्राचार किया लेकिन इसके बाद भी नियम के विरूद्ध पंजाब के एक गद्दार घराने के पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र को लाभ पहुंचाने के लिए चुनाव करा दिया गया। राइफल संघ के नियमावली के अनुसार किसी एक व्यक्ति को मात्र तीन बार अध्यक्ष चुना जा सकता है जबकि पूर्व सीएम के पुत्र को चौथी बार अध्यक्ष चुना गया है जो पूरी तरह से राष्ट्रीय खेल संहिता के विरूद्ध है। 

इस चुनाव में रिटर्निंग ऑफिसर मेहताब गिल को बनाया गया था जिसके फार्म हाउस पर रूक कर अमरिंदर सिंह ने चुनाव प्रचार किया था और अपने सीएम काल में मेहताब गिल को पंजाब का विजिलेंस कमिश्नर बनाया था। इतना ही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री के द्वारा देश के तमाम राज्यो के स्टेट राइफल एसोसिएशन जिनकी मान्यता नहीं है को राष्ट्रीय राइफल संघ से जोड़कर विभिन्न पदो पर रख दिया है जो आफिस खोल कर अपनी दुकान चला रहे है खेल मंत्रालय इस धांधली बाजी के प्रति आंखे मूदे बैठा है।


हमारी शिकायत पर चुनाव बाद कार्यवाई की बात करने वाला वोटो की राजनीति के लिए आज तक कोई कार्रवाई नहीं किया है। सांसद ने धांधली बाजो के विरूद्ध विधिक कार्यवाई की मांग किया है। साथ में यह भी कहा कि यही कारण है कि शूटिंग में पिछले 2 ओलिंपिक खेलों में कोई भी पदक भारत नहीं आया जबकि पहले सभी खेलों को मिलाकर जितने पदक आते थे उतने एक शूटिंग खेल में ही आ जाते थे।


टिप्पणियाँ

  1. माननीय अध्यक्ष लोक सभा श्रीमान जी ओम विरला साहब मैं आपसे एक प्रश्न पूछना चाहता हूँ कि मेरी तीन बेटियां हैं और वो कहती हैं कि पापा आप 2005 मे आइस एग्जाम का मेंस दिया.लेकिन असफल रहे।तो हम लोग कैसे सफ़ल होंगे जबकि OM Vविरला की लड़की बिना Exam diye.JOint secretary Pad Par chayanit ho gaYi?

    जवाब देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जौनपुर का बेटा बना यूनिवर्सिटी आफ टोक्यो जापान में प्रोफ़ेसर, लगा बधाईयों का तांता

इलाहाबाद हाईकोर्ट का ग्रामसभा की जमीन को लेकर डीएम जौनपुर को जानें क्या दिया आदेश

यूपी में फिर 11 आईएएस अधिकारियों का तबादला, देखे सूची